ALLAHABAD: स्टेट बैंक आफ इंडिया अघोषित नोटबंदी से जूझ रहा है. बैंक के पास कैश नहीं है. इसका नतीजा यह है कि बैंक के एटीएम पर ताला लटक रहा है. शुक्रवार को पब्लिक को एसबीआई के एटीएम से कैश नहीं मिला. वैसे प्राइवेट सेक्टर के बैंकों को छोड़ दिया जाय तो सरकारी लगभग सभी बैंकों का यही हाल है. इसके चलते एक साथ कई काम प्रभावित हो रहे हैं. असर ये भी हो सकता है कि कुंभ मेला की तैयारियां प्रभावित होने लगे. इसकी जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को भी है, लेकिन अभी तक कोई कदम नहीं उठाया गया.

2019 में होने वाले कुंभ मेला के काम प्रायरिटी पर हो रहे हैं. सरकार ने पहले ही कहा है कि अधिकतर भुगतान आरटीजीएस के जरिए किए जाएंगे. बावजूद इसके कई भुगतान कैश में होने हैं. इसे देने में एसबीआई खुद को असमर्थ महसूस कर रहा है. बैंक के अधिकारियों का कहना है कि बड़ी संख्या में लेबर रोजाना खाते से पैसा निकालने आते हैं. आने वाले समय में उनकी संख्या बढ़ जाएगी और हर महीने लाखों-करोड़ों रुपए की आवश्यकता होगी.